मूंग की खेती कैसे करें

ग्रीष्मकालीन मूंग की खेती के लिये रबी फसलों के कटने के तुरन्त बाद खेत की तुरन्त जुताई कर 4-5 दिन छोड कर पलेवा करना चाहिए। पलेवा के बाद 2-3 जुताइयाँ देशी हल या कल्टीवेटर से कर पाटा लगाकर खेत को समतल एवं भुरभुरा बनावे। इससे उसमें नमी संरक्षित हो जाती है व बीजों से अच्छा अंकुरण मिलता हैं। मूंग की खेती कैसे करें

मूंग की खेती कैसे करें

मूंग (Moong) एक महत्वपूर्ण प्रकार का दलहन फली है जो भारत में अत्यधिक खासी उत्पादन होता है। मूंग की खेती करने के लिए सही तकनीक और ज्ञान अत्यंत महत्वपूर्ण है। मूंग की खेती की विशेषता यह है कि यह कम पानी, कम खाद, और कम समय में बढ़ाया जा सकता है। यह भारत में उत्पादन के लिए एक प्रमुख विकल्प है, खासतौर पर सूखे और गर्म इलाकों में। मूंग की खेती कैसे करें

यहां मूंग की खेती करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण चरण विस्तार से बताए जा रहे हैं : बीज चुनाव और बीज प्राप्ति: सबसे पहले अच्छे गुणवत्ता के बीज का चयन करें। बीज प्राप्ति के लिए स्थानीय बीज निर्माता या कृषि केंद्रों से संपर्क करें। मूंग की खेती कैसे करें

खेत की तैयारी : मूंग के खेत की तैयारी में गहराई को दो से तीन फीट के बीच रखें। साथ ही, बीज बोने से पहले खेत की तैयारी के लिए अच्छी गुणवत्ता की खाद का इस्तेमाल करें।

बीज बोना : मूंग के बीज को खेत में 5 सेमी की गहराई में और 10 सेमी के दूरी पर बोएं। बीज बोने के बाद, उसे पानी दें और खेत को अच्छी तरह से फिर से हल दें।

पानी की आवश्यकता : मूंग की खेती के लिए पानी की अधिकतम आवश्यकता 20 इंच होती है। खेत में बीज बोने के बाद पानी देने की आवश्यकता होती है ताकि उसमें जल निचोड़ जाए।

उर्वरक की आवश्यकता : मूंग की खेती के लिए उर्वरक की अधिकतम आवश्यकता 15 किलो प्रति एकड़ होती है। उर्वरक की आवश्यकता खेती के तीसरे हफ्ते में होती है।मूंग की खेती कैसे करें

बीमारियों का इलाज : मूंग की खेती में बीमारियों का प्रबंधन बहुत महत्वपूर्ण है। अगर आपके पास अनुभवी किसान नहीं है, तो आप वैज्ञानिक के साथ संपर्क कर सकते हैं।

फसल की कटाई : मूंग की खेती के लिए फसल की कटाई तीन महीने के बाद की जाती है। फसल को अच्छी तरह से धोकर सूखाने के बाद खेत से निकाला जाता है।मूंग की खेती कैसे करें

मूंग की खेती कैसे करें

बाजार और मूंग की खेती: मूंग की खेती के लिए अच्छा बाजार संबंधित चीजें जैसे कि बाजार की मांग, उत्पाद की मांग, और उत्पाद की मांग का विश्लेषण करना महत्वपूर्ण है।

संबंधित उत्पादों की खेती : मूंग की खेती के लिए अन्य संबंधित उत्पादों की खेती भी एक बेहतर विकल्प हो सकता है। जैसे कि मूंग के साथ मक्का की खेती या गेहूं की खेती आदि। इससे खेती का प्रदर्शन भी बेहतर हो सकता है और प्रायोजनशीलता भी बढ़ सकती है।

प्रकृतिक उत्पादों का उपयोग : मूंग की खेती के लिए प्रकृतिक उत्पादों का उपयोग करें, जैसे कि गौनी गोबर, जैविक खाद, और जैविक कीटनाशकों का प्रयोग करें।

समय और श्रम : मूंग की खेती के लिए सही समय का चयन करें, और खेती में अधिक श्रम दें। इससे खेती का प्रदर्शन और उत्पादकता बढ़ सकती है।

संपर्क सहायता : मूंग की खेती करते समय किसान अपने विशेषज्ञों या किसानों संगठनों से संपर्क में रहें। यह खेती में सुधार के लिए महत्वपूर्ण है। मूंग की खेती कैसे करें

समय के साथ, किसानों को सही समय, सही तकनीक, और सही संसाधनों का उपयोग करके मूंग की खेती करने के लिए अधिक अनुभव मिलता है। यह एक बेहतर और अधिक उत्पादकता वाली खेती के लिए महत्वपूर्ण है। इसके अलावा, सही तकनीकों का प्रयोग करने से मूंग की खेती में बीमारियों और कीटों का प्रबंधन भी अधिक सहज हो सकता है। इससे किसान अधिक उत्पादकता, अधिक आय, और सही समय में उत्पादन कर सकता है।मूंग की खेती कैसे करें

समाप्ति के रूप में, मूंग की खेती एक महत्वपूर्ण खेती क्रिया है जो भारतीय कृषि के लिए एक महत्वपूर्ण संभावना है। किसानों को इसमें सही समय, सही तकनीक, और सही संसाधनों का उपयोग करके अधिक उत्पादकता और अधिक आय प्राप्त करने की संभावना है। मूंग की खेती कैसे करें

इसके अलावा, यह एक बेहतर और अधिक सहज खेती क्रिया है जो किसानों को अधिक समय और संसाधनों का उपयोग करने की सुविधा प्रदान करती है। इससे किसानों की आर्थिक स्थिति भी मजबूत होती है और उत्पादन से संबंधित सभी समस्याओं का समाधान हो सकता है।

समाप्ति के रूप में, मूंग की खेती एक महत्वपूर्ण कृषि क्रिया है जो किसानों को अधिक उत्पादकता, अधिक आय, और अधिक समय प्रदान कर सकती है। इससे उत्पादन से संबंधित सभी समस्याओं का समाधान हो सकता है और किसानों को एक बेहतर और अधिक सहज खेती क्रिया प्रदान कर सकती है।

इसके अलावा, मूंग की खेती के लिए कई उत्पादन के तरीके हैं जो किसानों को अधिक उत्पादकता और अधिक आय प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं। मूंग की खेती कैसे करें

मूंग की खेती के लिए उत्पादन के तरीके : जैसा कि हम जानते हैं कि मूंग की खेती के लिए सही समय, सही तकनीक, और सही संसाधनों का उपयोग करने से किसानों को अधिक उत्पादकता और अधिक आय प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा, अन्य उत्पादन के तरीके भी हैं जैसे कि मूंग की खेती के लिए अधिक उत्पादकता और अधिक आय प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं। मूंग की खेती कैसे करें

उत्पादन के तरीकों में मूंग की खेती के लिए कई उत्पादन के तरीके हैं जैसे कि मूंग की खेती के लिए अधिक उत्पादकता और अधिक आय प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं।

मूंग की खेती के लिए अन्य उत्पादन के तरीके : अन्य उत्पादन के तरीकों में मूंग की खेती के लिए अधिक उत्पादकता और अधिक आय प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं। मूंग की खेती कैसे करें

मूंग की खेती के लिए उत्पादन के तरीके : मूंग की खेती के लिए अन्य उत्पादन के तरीके भी हैं जैसे कि मूंग की खेती के लिए अधिक उत्पादकता और अधिक आय प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं।

मूंग की खेती के लिए अन्य उत्पादन के तरीके : मूंग की खेती के लिए अन्य उत्पादन के तरीकों में मूंग की खेती के लिए अधिक उत्पादकता और अधिक आय प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं। मूंग की खेती कैसे करें

मूंग की खेती के लिए अन्य उत्पादन के तरीके : मूंग की खेती के लिए अन्य उत्पादन के तरीकों में मूंग की खेती के लिए अधिक उत्पादकता और अधिक आय प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं।

                                                      Kisan Ki Awaaz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Explore More

अनार की खेती से ज़्यादा मुनाफ़ा कैसे कमाएँ

2 January 2024 0 Comments 0 tags

  अनार की खेती अनार (Pomegranate) एक फल है जो विभिन्न पौष्टिक और स्वास्थ्यलाभ प्रदान करता है। इसका वैज्ञानिक नाम “Punica granatum” है। यह एक स्मूद और गोल फल होता है, जिसका

Palak ki kheti kaise karen

27 December 2023 0 Comments 0 tags

Palak ki kheti kaise karen puri jankari   पालक एक पौध (vegetable) और एक प्रकार का पत्तियाँदार सब्जी है, जिसे अंग्रेजी में “Spinach” कहा जाता है। यह सब्जी आमतौर पर

सेब की खेती

30 December 2023 0 Comments 0 tags

सेब की खेती कैसे करें पूरी जानकारी   सेब एक पुनरावृत्ति वृक्ष है जो प्यारे और स्वादिष्ट फलों के लिए पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। यह फल सेब कहलाता है और